Mind Specialists / स्वास्थ्य उत्थान / स्वयं-प्रबंधन

स्वयं-प्रबंधन

स्वाभाव का प्रबंधन

भावनाएं कोई वस्तु नहीं हैं जिन्हें हम किसी एक ही रूप में महसूस करते हैं। कभी-कभी किसी दिन हम ख़ुशी की हदें पार कर सकते हैं और उसी शाम उदासी महसूस कर सकते हैं। यह बिलकुल सामान्य है। हालांकि, कभी-कभी हमारा मूड बहुत ज्यादा अस्थिर हो सकता है या उसमें अत्यधिक बदलाव आ सकता है। ऐसा होने से हमारे प्रतिदिन के कामकाज में बाधाएं पैदा हो सकती हैं और यह हमारे निर्णय लेने की क्षमताओं को भी बिगाड़ सकता है। असल में प्रत्येक भावना को महसूस करने से ही हमारे जीवन में नए रंग भरते हैं, लेकिन समझना यह है कि समाज में बेहतर प्रदर्शन के लिए इसका कैसे उपयोग करना है।

विचारों का प्रबंधन

इंसान के दिमाग में एक दिन के अन्दर 60,000 करीब विचार उत्पन्न होते हैं। क्या आपको पता था कि आप इतना सोचते हैं? इन सभी विचारों के माध्यम से हमें खुद को बेहतर रूप से जानने में मदद भी मिलती है। हम अपनी प्रेरणाओं को समझना शुरू कर देते हैं और इस जागरूकता के साथ, हम अच्छे निर्णय लेना सीखते हैं। शुरुआत में यह थोडा मुश्किल लग सकता है, लेकिन अभ्यास करने से यह अन्य चीज़ों की तरह आसान लगने लगता है। सिर्फ अपने विचारों पर ध्यान देने से आपके जीवन पर काफी बड़ा प्रभाव पड़ सकता है।

व्यक्तिगत विकास

व्यक्तिगत विकास में वह सारी गतिविधियाँ आती हैं जो आपकी जागरूकता और पहचान में सुधार लाती हैं, आपके हुनर व क्षमता को विकसित करती हैं, मानव पूँजी का निर्माण और रोज़गार की सुविधा प्रदान करती हैं, जीवन की गुणवत्ता में वृद्धि लाती है और आपके सपनों व आकांक्षाओं के एहसास में योगदान देती हैं। हम हर दिन मनुष्य के रूप में बदल रहे हैं और विकसित हो रहे हैं। विकसित होना इस बात का सबूत है कि यह बदलाव एक सकारात्मक दिशा में हो रहा है।



Articles